अनुराग कश्यप ने कंगना पर तंज कस्ते हुए कहा- चार पाँच को ले के चीन पर चढ़ाई कर दे बहन, बस तू ही है इकलौती मणिकर्णिका

इन दिनों बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत सोशल मीडिया पर काफी एक्टिव रहती हैं और बड़ी बेबाकी से अपनी राय रखती हैं। हाल ही में कंगना ने अपने ट्विटर हैंडल से हिंदी में एक ट्वीट किया था, जिस के जवाब में फिल्म निर्देशक अनुराग कश्यप ने व्यंग्यात्मक तरीके से कंगना रनौत को देश की ओर से चीन से लड़ने का आग्रह किया था, अब कंगना ने अनुराग कश्यप पर पलटवार किया है।

दरअसल कंगना ने अपने ट्विटर हैंडल पर एक ट्वीट में लिखा था, ‘मैं एक क्षत्राणी हूं। सर कटा सकती हूं, लेकिन सर झुका सकती नहीं! राष्ट्र के सम्मान के लिए मैं हमेशा आवाज बुलंद करती रहूंगी। मान, सम्मान, स्वाभिमान के साथ जी हूं और गर्व से राष्ट्रवादी बनकर जीती रहूंगी! सिद्धांत के साथ न ही कभी समझौता की हूं न ही कभी करूंगी! जय हिंद।’

कंगना के इस ट्वीट पर अनुराग ने व्यंग्य करते हुए कहा कि कंगना इकलौती मणिकर्णिका हैं और उन्हें चीन से लोहा लेने के लिए बॉर्डर पर भेजा जाना चाहिए। कंगना के ट्वीट पर अनुराग कश्यप ने चुटकी लेते हुए ट्वीट लिखा, ‘बस एक तू ही है बहन – इकलौती मणिकर्णिका। तू ना चार पाँच को ले के चढ़ जा चीन पे। देखो कितना अंदर तक घुस आए हैं। दिखा दे उनको भी कि जब तक तू है इस देश का कोई बाल भी बाँका नहीं कर सकता। तेरे घर से एक दिन का सफर है बस LAC का। जा शेरनी। जय हिंद।’

कंगना ने अनुराग के ट्वीट के जवाब में लिखा, ‘ठीक है मैं बॉर्डर पे जाती हूँ आप अगले ओलम्पिक्स में चले जाना, देश को गोल्ड मेडल्स भी चाहिए। हा हा हा यह सब कोई बी ग्रेड फ़िल्म नहीं है, जहां कलाकार कुछ भी बन जाता है, आप तो मेटफ़ॉर्ज़ को लिटरली लेने लगे, इतने मंदबुद्धि कब से हो गए, जब हमारी दोस्ती थी तब तो काफी चतुर थे।’

हिंदी में ट्वीट्स की श्रृंखला में कंगना और अनुराग ने और भी ट्वीट लिखे। इससे पहले अनुराग ने एक इंटरव्यू में कहा था कि वह कंगना के बहुत अच्छे दोस्त हुआ करते थे, लेकिन 2015 के बाद उनके रिश्ते में खटास आ गई। हिंदी में ट्वीट्स की एक श्रृंखला में अनुराग ने लिखा था, ‘मैंने कल कंगना का इंटरव्यू देखा। वह एक समय में मेरी बहुत अच्छी दोस्त हुआ करती थी। वह मेरी फिल्मों के लिए मुझे हमेशा ही प्रोत्साहित करती थीं, लेकिन अब मैं इस नई कंगना को नहीं जानता।’

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *