‘आश्रम’ में साधारण सी दिखने वाली पम्मी पहलवान पर छाया ग्लैमर का खुमार, बिखेरा हुस्न का जलवा

पॉपुलर वेब सीरीज ‘आश्रम’ में अक्सर सलवार सूट पहने सीधी-सादी लड़की के रोल में नजर आईं पम्मी पहलवान यानी एक्ट्रेस अदिति पोहनकर (Aaditi Pohankar) ने वेब सीरीज से खूब सुर्खियां बटोरी हैं। भले ही वेब सीरीज में अदिति सिंपल लुक में दिखाई दीं लेकिन असल ज़िंदगी में वे बेहद ग्लैमरस हैं, इस बात का सबूत अदिति का सोशल मीडिया अकाउंट है जो उनकी ग्लैमरस तस्वीरों से भरा पड़ा है।

सोशल मीडिया पर काफी एक्टिव रहने वाली अदिति ने हाल ही में अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर अपनी नई तस्वीरें शेयर की हैं जिसमें उनका दिलकश अंदाज साफ नजर आ रहा है। इन तस्वीरों में अदिति ने जमकर अपने हुस्न का जलवा बिखेरा है। अदिति की इन तस्वीरों की इंटरनेट पर जमकर चर्चा हो रही है। इन तस्वीरों को देखकर फैन्स लाइक्स के साथ-साथ कमेंट सेक्शन में भी अदिति की तारीफ करते हुए थक नहीं रहे हैं।

अदिति को बचपन से ही खेलों में दिलचस्पी रही है, 31 दिसंबर 1994 को जन्मीं अदिति पोहनकर ने स्कूल में एथलेटिक्स के खेल में महाराष्ट्र का प्रतिनिधित्व किया और 100 मीटर और 200 मीटर दौड़ में मेडल्स जीते थे।

थिएटर से एक्टिंग करियर शुरू करने वाली अदिति ने 2010 में ‘लव, सेक्स और धोखा’ फिल्म से बॉलीवुड में कदम रखा था। अदिति ने 2020 में इम्तियाज अली की वेब सीरीज ‘शी’ में महिला कॉन्सटेबल की भूमिका निभाई थी। इस वेब सीरीज से अदिति का बोल्ड अंदाज़ सामने आया और अदिति को दशकों के बीच नई पहचान मिली।

वेब सीरीज ‘शी’ से चर्चा में आने के बाद अदिति को बहुचर्चित वेब सीरीज ‘आश्रम’ में रेसलर पम्मी का किरदार निभाने का मौका मिला। इस सीरीज में बॉबी देओल के साथ इंटीमेट सीन्स देकर अदिति ने खूब सुर्खियां बटोरी थीं।

अदिति बॉलीवुड के अलावा मराठी और तमिल फिल्मों में भी काम कर चुकी हैं। उन्होंने 2014 में रितेश देशमुख के अपोजिट मराठी फिल्म ‘लाई भारी’ में अपनी भूमिका से सभी को प्रभावित किया था। अदिति ने 2017 में तमिल फिल्म ‘जेमिनी गणेशनम सुरुली राजनम’ में अथर्व के साथ अभिनय कर तमिल फिल्म इंडस्ट्री में डेब्यू किया था।

लाजवाब एक्टिंग के साथ-साथ खूबसूरती के मामले में भी अदिति किसी से कम नहीं हैं। 2020 में अदिति पोहनकर ‘टाइम्स मोस्ट डिजायरेबल वूमेन’ में भी 47वां स्थान हासिल कर चुकी हैं।

Leave a Comment

Your email address will not be published.

You cannot copy content of this page