रामायण के पुन: प्रसारण से पहले ही इस दुनिया से विदा ले चुके हैं ‘रामायण’ के ये दिग्गज कलाकार

सालों बाद एक बार फिर लोग धार्मिक धारावाहिक रामायण का आनंद उठा रहे हैं। टीवी के सबसे चर्चित और धार्मिक धारावाहिकों में से एक रामानंद सागर द्वारा निर्मित ‘रामायण’ इन दिनों दूरदर्शन पर एक बार फिर से प्रसारित किया जा रहा है। लोग एक बार फिर प्रत्येक किरदार की अदाकारी के गवाह बन रहे हैं। लेकिन इन कलाकारों में कुछ ऐसे कलाकार भी हैं जो रामायण की इस दूसरी यात्रा देखने के लिए अब इस दुनिया में नही हैं।

सुग्रीव (श्याम सुंदर कालानी)

रामायण में सुग्रीव का किरदार निभाने वाले अभिनेता श्याम सुंदर कलानी रामायण के पुन: प्रसारण से कुछ दिन पहले ही दुनिया को अलविदा कह गए। श्याम सुंदर ने रामायण में जिस तरह से सुग्रीव और बाली के किरदार निभाये थे वह काबिल-ए-तारीफ है।

हनुमान (दारा सिंह)

रामायण में दारा सिंह का निभाया पवनपुत्र हनुमान का किरदार आखिर कौन भूल सकता है। रामायण में हनुमान का किरदार सबसे अहम और लोकप्रिय किरदारों में से एक है। आज भी हनुमान का किरदार उनसे बेहतर कोई भी नहीं निभा पाया। उन्होंने अपने जोरदार अभिनय से सभी का दिल जीत लिया था। दारा सिंह का नि ध न 12 जुलाई 2012 को हुआ था।

जनक (मूलराज राजदा)

माता सीता के पिता मिथिला नरेश जनक का किरदार अभिनेता और लेखक मूलराज राजदा ने निभाया था। साल 2012 में मूलराज रजदा इस दुनिया से चल बसे।

मंथरा (ललिता पवार)

भगवान राम को 14 साल के वनवास पर भेजने के लिए मंथरा को ही जि‍म्मेदार माना जाता है। आज भी जब किसी को भड़काने का उदाहरण दिया जाता है तो रानी कैकेयी की दासी मंथरा का नाम लिया जाता है। रामायण में यह किरदार दिग्गज अभिनेत्री ललिता पवार ने निभाया था। उनकी मृत्यु रामायण के पहले प्रसारण के दौरान 24 फरवरी 1988 में हो गई थी। वह आज भी हिंदी सिनेमा जगत में जबरदस्त खलनायिका के तौर पर पहचानी जाती हैं। साल 1944 में फिल्म जगत में डेब्यू करने वालीं ललिता के नाम दर्जनों फिल्में दर्ज हैं।

विभीषण (मुकेश रावल)

रावण के संहार में अहम भूमिका निभाने वाले उनके भाई विभीषण का किरदार अभिनेता मुकेश रावल ने निभाया था। आज भी लोगों के जहन में उनकी सज्जनता से भरी अदाकारी और वक्त-वक्त पर श्रीराम को परामर्श देने वाले दृश्य कैद हैं। मुकेश हिंदी और गुजराती सिनेमा जगत में भी सक्रिय रहे लेकिन  रामायण उनके करियर का सबसे महत्वपूर्ण शो रहा। उनका अंत बेहद दुखद रहा साल 2016 में ट्रेन के आगे आने से उनकी मृ त्यु हुई। जानकारी के अनुसार वह अपने बेटे की मौ त के सदमे से जूझ रहे थे।

मेघनाद (विजय अरोड़ा)

राम और रावण के युद्ध में एक वक्त ऐसा आया था जब रावण के पुत्र मेघनाद ने लक्ष्मण को घायल कर राम की चिंता बढ़ा दी थी। रामायण में यह दमदार किरदार अभिनेता विजय अरोड़ा ने निभाया। उन्होंने अपने करियर में 110 फिल्मों और करीब 500 से अधिक सीरियल्स में काम किया। साल 2007 में वह दुनिया को अलविदा कह गए।

कौशल्या (जयश्री गडकर)

रामायण में राम की माता कौशल्या का किरदार अभिनेत्री जयश्री गडकर ने निभाया था। इसके पहले वह हिंदी और मराठी सिनेमा में भी काम कर चुकी थीं। साल 2008 में जयश्री गडकर इस दुनिया से चल बसीं।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *